सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

गॉव के विकास को फोकस करके काम करे-- श्री कश्यप राज्य योजना आयोग की बैठक संपन्न


अमित शर्मा
झाबुआ-केन्द्र सरकार ने नीति आयोग बनाकर अब विकास योजनाओं के निर्माण में आधारभूत परिवर्तन किया है। अब जमीनी आंकलन के बाद ही जिले की योजना को मंजूरी दी जाती है। गांव की आवश्यकता को देखते हुवे योजना को अंतिम रूप दिया जाता है। इसी लिये योजना आयोंग जिलो में बैठक आयोजित कर जिला कलेक्टरो से सुझाव आमंत्रित कर रहा है।उक्त बात राज्य योजना आयोग के उपाध्यक्ष श्री चेतन्य कश्यप ने आज 30 अक्टूबर को झाबुआ जिला मुख्यालय पर कलेक्टर कार्यालय सभाकक्ष में संपन्न राज्य योजना आयोग की बैठक में कही। बैठक में चार जिलो झाबुआ, अलीराजपुर, धार, बडवानी के वर्ष 2018-19 के लिए विकेन्द्रीकृत जिला योजना के प्रस्तावों पर योजनाओं व उसके बजट पर विभागवार चर्चा की गई। 
बैठक में उपाध्यक्ष श्री कश्यप ने कहा कि योजनाओं के लिए शासन स्तर से प्राप्त बजट का समुचित उपयोग करे। प्रधानमंत्री जी की मंशानुसार वर्ष 2022 तक प्रदेश को गरीबी मुक्त बनाना है इसके लिए सभी प्रशासनिक अधिकारी जमीनी स्तर पर ईमानदारी से काम करते हुए गरीब वर्ग के व्यक्तियों को योजनाओं का लाभ देते हुए उनके जीवन स्तर में सुधार लाये। मध्यप्रदेश ऐसा राज्य है जहां पर आवास का अधिकार कानून बना है, कानून के तहत हर आवासहीन व्यक्ति को आवास उपलब्ध हो ऐसी व्यवस्था सुनिश्चित करे। बैठक में राज्य योजना आयोग के प्रमुख सलाहकार राजेन्द्र मिश्रा, पी.सी.बारस्कर, डॉ. बीएल शर्मा, एच. पी. बत्रा योजना विशेषज्ञ, कलेक्टर झाबुआ श्री आशीष सक्सेना, कलेक्टर अलीराजपुर श्री गणेश शंकर मिश्रा, कलेक्टर धार श्रीमन शुक्ल सहित चारो जिलों के पुलिस अधिकारी, सीईओ जिला पंचायत सहित चारो जिलों के विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।
बैठक में योजना को पूर्व में बना कर क्रियान्वित करने का महत्व बताते हुए उपाध्यक्ष श्री कश्यप ने कहा कि बडवानी एवं धार जिले में विस्थापित परिवारो को पुर्नस्थापित करने के लिए पूर्व से योजना बनाकर, अधिकारी की जवाबदेही तय करके काम किया जाता तो आमजन एवं प्रशासन को वर्तमान में समस्याओं का सामना नहीं करना पडता।
स्वास्थ्य सेवाओं में झाबुआ नम्बर वन-------
बैठक में योजना आयोग द्वारा तय 15 संकेतको के आधार पर सभी जिलो की समीक्षा कर स्थिति से अवगत कराया गया। बैठक में बताया गया कि योजना आयोग द्वारा तय संकेतको में स्वास्थ्य संकेतक में झाबुआ जिला स्वास्थ्य सेवाओं को आम जन को उपलब्ध करवाने में प्रदेश में पहले स्थान पर है। शिक्षा एवं अन्य क्षेत्रो में पिछडा कहां जाने वाला झाबुआ जिला स्वास्थ्य सेवाएं देने में प्रदेश में नम्बर वन पर है, इसके लिए आयोग द्वारा कलेक्टर एवं पूरी स्वास्थ्य टीम की प्रशंसा की गई। 
बैठक में राज्य योजना आयोग के सलाहकार श्री राजेन्द्र मिश्रा ने विकेन्द्रीकृत जिला योजना के संबंध में राज्य योजना आयोग की तरफ से जारी दिशा-निर्देशो से अवगत कराया।
सामाजिक कुरीतियों को रोकने के लिये सामाजिक सहयोग की हुई सराहना-----
बैठक में कलेक्टर झाबुआ श्री आशीष सक्सेना ने सभी का स्वागत किया एवं आभार प्रदर्शन किया। बैठक में चारो जिलों के कलेक्टर ने अपने जिले की योजना एवं अपने नवाचार को बताया। बैठक में कलेक्टर श्री आशीष सक्सेना ने झाबुआ जिले में सामाजिक अपराधों को रोकने के लिए एवं सामाजिक कुरीतियों पर अंकुश लगाने के लिये सामाजिक प्रमुख तडवी पटेल से सहयोग लेने के लिए किये गये अपने नवाचार की जानकारी दी जिसकी योजना आयोग उपाध्यक्ष श्री कश्यप ने सराहना की एवं दहेज के बिना विवाह करने वाले परिवारो और संबंधित तड़वी को मंच पर सम्मानित करने के लिए कहा। जिस गांव में तड़वी द्वारा अधिक दहेज लेने की सूचना प्राप्त हुई उस गांव के तडवी को चाय पर बुलाकर बुराई को कम करवाने के लिए स्वेच्छा से कार्य करने के लिए प्रेरित किये जाने के तरीके की श्री कश्यप ने प्रशंसा की। कलेक्टर श्री सक्सेना ने जिले में शिक्षा व्यवस्था एवं गुणवत्ता में सुधार के लिए शिक्षको की कमी को उल्लेखित करते हुए रिक्त पदो पर भर्ती करवाने का अनुरोध भी किया एवं जिले में हाथीपावा पहाडी एवं चैनपुरा पहाडी पर जनसहयोग से किये गये पौधा रोपण कार्य की भी विस्तृत जानकारी दी।
बैठक में झाबुआ जिले के लिए वर्ष 2018-19 के लिए 116953.40 लाख की योजना प्रस्तावित की गई। बड़वानी जिले के लिए वर्ष 2018-19 के लिये 108191.95 लाख, की योजना, धार जिले के लिए वर्ष 2018-19 के लिये 270977.50 लाख की एवं अलीराजपुर जिले के लिए वर्ष 2018-19 के लिये 82039.64 लाख की योजना प्रस्तावित की गई। 
झाबुआ जिले के लिए नदियो पर स्टॉपडेम की योजना हुई अनुमोदित
झाबुआ जिले के लिए कलेक्टर श्री आशीष सक्सेना ने नदियों पर जहां संभव हो रबी फसल की सिंचाई के लिए छोटे-छोटे स्टॉप डेम बनाने की योजना प्रस्तावित की। योजना आयोग द्वारा योजना की उपयोगिता को देखते हुए जिले में नदियो पर बनने वाले स्टॉप डेम की योजना को अनुमोदित किया। 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

रूल ऑफ लॉ अंतर्गत वाहन चेकिंग के दौरान आरटीओ ने वसूला 2.50 लाख का राजस्व,, आरटीओ,आबकारी,एव पुलिस विभाग की सयुक्त कार्यवाही से हो रही वाहनो की सघन चेंकिंग,,

अमित शर्मा (झाबुआ अभीतक)
झाबुआ। भारत निर्वाचन आयोग तथा कलेक्टर प्रबल सिपाहा के निर्देशानुसार रूल ऑफ लॉ के अंतर्गत परिवहन विभाग, आबकारी विभाग तथा पुलिस विभाग द्वारा वाहनो की जांच का सघन अभियान चलाया जा रहा है। जिसमे विशेष तौर पर वाहनो की बॉडी मे बिना अनुमति के फेरबदल, वाहनो पर अनाधिकृत रूप से हूटर, बैनर, नियम विरूद्ध नंबर प्लेट, काली फिल्म, सर्च लाइट, बिना परमिट संचालित वाहनो पर कार्यवाही की जा रही हैं। विगत 2 सप्ताह मे परिवहन विभाग झाबुआ द्वारा 80 चालान बनाये जाकर लगभग 2.50 लाख रूपये राजस्व के रूप मे वसूल किये गये है। नियम विरूद्ध कई नंबर प्लेटे, सर्च लाइट, काली फिल्म वाहनो से निकलवाकर चालानी कार्यवाही की जा रही हैं।झाबुआ जिले भर में वाहनो पर अवैध रूप से लगे हुए हूटर भी निकाले जाकर चालान बनाये गये। 

 परिवहन विभाग द्वारा यह कार्यवाही झाबुआ, पेटलावद, थांदला क्षेत्रो मे की गई है। कुछ लोगो ने कार्यवाही के दौरान रौब दिखाने की भी कोशीश की, किंतु उन्हे चालान बनवाना पडा। कलेक्टर प्रबल सिपाहा से प्राप्त निर्देशो के अनुरूप शीघ्र ही वाहनो पर नियम विरूद्ध हूटर, नंबर प्लेट, काली फिल्म, सर्च लाइट, प्…

हाथीपावा पहाड़ी पर स्थापित पौधों को पानी देने एवं पौधों का संरक्षण कार्य 9 मार्च को अधिकारियो/कर्मचारियो सामाजिक, धार्मिक संगठन के समन्वय से किया जाएगा

अमित शर्मा (झाबुआ अभीतक)
झाबुआ-कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा के नेतृत्व मे हाथीपावा पहाड़ी पर पूर्व में स्थापित पौधों को पानी देने एवं पौधों का संरक्षण हेतु दिनांक 9 मार्च 2019 शनिवार को प्रातः 7ः00 से 10ः00 बजे तक सभी जिला अधिकारी, कर्मचारी एवं समस्त सामाजिक/धार्मिक संगठन के पदाधिकारी एवं सदस्यों द्वारा पहाडी पर पहुंच कर पौधो को पानी देने एवं पौधो के सरंक्षण का कार्य किया जाएगा।

’बोहरा समाज के 53वें धर्मगुरु सैयदना मुफद्दल सैफुद्दीन साहब ने मप्र व देश उन्नति के लिए की दुआएं’

अमित शर्मा झाबुआ अभीतक राकेश पोद्दार जिला प्रतिनिधि

झाबुआ। पिछले दिनों 23 फरवरी को झाबुआ जिले के मेघनगर रेलवे स्टेशन पर बोहरा समाज के 53वें धर्मगुरु सैयदना आलीकदर मुफद्दल सैफुद्दीन साहब ने मप्र में मुंबई से आगमन किया था। मेघनगर रेलवे स्टेशन पर उतरने के बाद सीधे वे थांदला पहुंचे थे। मेघनगर रेलवे स्टेशन पर हजारों समाजजनों समेत क्षेत्रीय सांसद कांतिलाल भूरिया, थांदला विधायक वीरसिंह भूरिया, समाजसेवी सुरेशचंद्र (पप्पूभैया) जैन, पंकज वागरेचा समेत अनेकों समाज के लोगों ने सैयदना साहब का इस्तकबाल किया था। साथ ही सैयदना साहब ने तीन दिनों थांदला एवं उसके बाद झाबुआ में धार्मिक कार्यक्रमों में शिरकत की थी। इन सभी कार्यक्रमों प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा उन्हें राजकीय अतिथि का सम्मान दिया गया था। साथ ही थांदला में मुख्यमंत्री के प्रतिनिधि मंडल के तौर पर प्रभारी मंत्री हनीसिंह बघेल, सांसद कांतिलाल भूरिया, सांसद प्रतिनिधि युवक कांग्रेस जिलाध्यक्ष डॉ. विक्रांत भूरिया, विधायक वीरसिंह भूरिया , पूर्व कांग्रेस जिलाध्यक्ष व समाजसेवी सुरेशचंद जैन (पप्पूभैया) समेत अनेक कांग्रेस कार्यकर्ता सैयदना स…