सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

जिला भाजपा ने धिक्कार रैली निकालकर कलेक्टोरेट का किया घेराव------प्रदेश की कमलनाथ सरकार बेईमान ओर किसान विरोधी- बाबुसिंह रघुवंशी



अमित शर्मा (झाबुआ अभीतक)
झाबुआ । भारतीय जनता पार्टी जिलाझाबुआ द्वारा शनिवार को  घिक्कार रैली निकाल कर प्रदेश की कांग्रेस  की कमलनाथ  सरकार द्वारा किसानों की कर्ज माफी के नाम पर छलावा  करने, बेरोजगारो को अपने संकल्पपत्र के अनुसार बेराजगारी भत्ता नही दिये जाने तथा केन्द्र की मोदी सरकार द्वारा                   

किसानों को दी जाने वाली सम्मान निधि की राशि की सूचिया अभी तक नही भेजे जाने के विरोध में  स्थानीय मरीमाता चौराहे से प्रभावी रैली निकाली गई तथा कलेक्टर कार्यालय का जंगी घेराव किया गया । रैली एवं घेराव कार्यक्रम का नेतृत्व प्रदेश के  भाजपा नेता एवं प्रभारी बाबुसिंह रघुवशी ने किया । नगर के राजवाडा चौक, नेहरूमार्ग, कालिका माता मंदिर, उत्कृशठ सडक से होते हुए रैली कलेक्टर कार्यालय पहूंची । भाजपा कार्यकर्ताओं के हाथ में कांग्रेस सरकार की वादा खिलाफी एवं किसानो, बेराजगारों कें साथ किये गये छलावे के बारे मे तख्तिया लिये महिला एवं पुरूश कार्यकर्ता नारे बाजी करते हुए चल रहे थे । पुलिस प्रशासन की सख्त सुरक्षा व्यवस्था के बीच भाजपाई कार्यकर्ताओं एवं नेताओं का उत्सयाह चरम पर रहा । प्रदेश की कमलनाथ सरकार को वादा खिलाफी के लिये कोसा जारहा था ।

कलेक्टर कार्यालय में  धरना प्रर्दशन में सैकेडो की संख्या में भाजपाई उपस्थित थे । इस अवसर पर संबोधित करते हुए प्रदेश से आये प्रभारी बाबुसिंह रघुवशि ने कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष  राहुल गांधी के उस उद्धरण को बताया कि उन्होने एक से दस तक की गिनती करते हुए प्रदेश के किसानों को आशवस्त किया था कि  सभी किसानों का सभी प्रकार का कर्जा दस दिन के अन्दर कांग्रेस की सरकार बनते ही माफ कर दिया जावेगा यदि 10 दिन में यह काम नही हुआ तो मुख्यमंत्री बदल दूंगा ।कांग्रेस पार्टी ने प्रदेश की जनता एवं किसानों को धोखा देकर सरकार बनाई है । प्रदेश के किसानों की कर्ज माफी के लिये 85 हजार करोड की राशी चाहिये किन्तु कमलनाथ सरकार ने मात्र 5 हजार करोड का ही बजट में प्रावधान किया और इस प्रकार किसानों के साथ छलावा किया है । उन्होने दावे के साथ कहा कि झाबुआ जिले के यदि कोई्र भी पांच किसानों की डायरी लेकर देखे तो किसी भी किसान का कर्ज माफ नही हुआ है । कांग्रेस ने केवल चार टेबले लगा कर कर्ज मुक्ति के प्रमाणपत्र बांटने के अलावा कुछ नही किया है । दिये गये प्रमाणपत्रों पर किसी के भी हस्ताक्षर नही है जबकि कर्ज यदि माफ होता है तो बेंक प्रबंधक, अध्यक्ष आदि के हस्ताक्षर होना चाहिये  । प्रमाणपत्र बेंक के मेनेजर को देना है । यदि प्रदेश के 7 लाख किसानों के खाते में  5 हजार करोड की राशी डाली जावे तो भी हर किसान के खाते में 8 हजार से अधिक की रकम से ज्यादा नही आयेगी । इस प्रकार प्रदेश सरकार ने  किसानों के साथ सिर्फ छलावा किया है ।  श्री रघुवां ने  कहा कि केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार द्वारा प्रत्येक किसान के खाते में 6 हजार की राा सम्मान निधि के रूप  में जमा करने की योजना लागू की है किन्तु प्रदेश की कमलनाथ सरकार ने 5 एकड तक की जमीन वाले ऐसे किसानों की सूची ही केन्द्र सरकार को नही भेजी है जिससे उनके खाते के केन्द्र सरकार की राशी जानबुझ कर नही डाली जा पारही है। श्री रघुवाशि ने  कमलनाथ सरकार को बेईमान सरकार निरूपित करते हुए कहा कि छात्रों के साथ कमलनाथ सरकार ने वादा खिलाफी की है ।
इस अवसर पर  प्रदे कार्य समिति के सदस्य शेलेश दुबे ने अपने प्रभावी संबोधन में कांग्रेस की कमलनाथ सरकार को किसानों के साथ धोखा करने वाली सरकार बताते हुए राहूंल गोधी के द्वारा 10 दिनों में किसानों के सभी कर्ज माफी के थोथे दावे करने पर आडे हाथ लेते हुए कहा कि 100 दिन हो जाने के बाद भी किसान आज ठगा महसूस कर रहा है । किसानों से रंग बिरंगे फार्म भरवाये जारहे है। बेराजगारों को 4 हजार बेराजगारी भत्ता आज तक नही मिला है ।  भाजपा कार्य समिति के सदस्य दौलत भावसार ने भी सैना के पराक्रम को लेकर कांग्रेस पार्टी द्वारा सबुत मांगने तथा जवानों के सम्मान को आहत करने का काम किया जारहा है । प्रदेश की कमलनाथ सरकार ने किसानों, बेराजगारों, युवाओं सहित पूरे प्रदे को अनाथ बना दिया है । सहकारिता को कमलनाथ सरकार समाप्त करना चाहती है। उन्होने कांग्रेस सांसद कांतिलाल भूरिया एवं उनके पुत्र डा. विक्रांत भूरिया द्वारासरकारी कामों में सीधा हस्तक्षेप करने तथा पुलिस प्रासन पर दबाव बनाने जैसे कृत्यों का जिक्र किया उन्होने कहा कि लोकसभा चुनाव के बाद प्रदे में फिर से भाजपा की सरकार बनना तय है ।धिक्कार रैली के जिला प्रभारी पूर्व विधायक शातिलाल बिलवाल ने भी संबोधित करते हुए  धिक्कार दिवस पर हर मोर्चे पर कमलनाथ सरकार की विफलता के लिये धिक्कार ज्ञापित किया  किसानों, बेरोजगारों, छात्रों, आवासगृहों के आबंटन  आदि को लेकर भी कांग्रेस सरकार को आडे हाथ लिया । पूर्व विधायक कलसिंह भाबर ने भी अपने संबोधन में  कांग्रेस की कमलनाथ सरकार द्वारा वादे पूरी नही करने तथा कर्जमाफी के नाम पर सोसायटियों एवं बेंकों से नोड्युज नही मिलने के बारे में विस्तार से बताया । किसानों की कथित कर्जमाफी के नाम पर लोकसभा चुनाव को लेकर  किसानों एवं आम जनों को कांग्रेस सरकार भ्रमित कर रही है।इस अवसर पर जिला सहाकारी केन्द्रीय बेंक के पूर्व अध्यक्ष गौरसिंह वसुनिया ने भी अपे संबोधन में कहा कि शिवराजसिंह चौहान के मुख्यमंत्रीत्व काल मे किसानों को सहकारी बैंको से ऋण पर 18 प्रतित व्याज जो लिया जारहा था उसे कम करके शुन्य प्रतिशत करके किसानों को राहत देने के साथ ही बैकों को प्रदेश की भाजपा सरकार ने राशि खाते मे डाल कर सहकारिता आन्दोलन को गति दी थी। जबकि आज ऋण माफी के नाम पर झुठे प्रमाणपत्र दिये जा रहे है  और किसानों की ऋण मुक्ति के नाम पर लोकसभा चुनाव को देखते हुए टाईम पास किया जारहा है । कार्यक्रम का संचालन शयामा ताहेड ने करते हुए कांग्रेस की कमलनाथ सरकार को वादा तोडने वालीद झुठी सरकार बताया ।कार्यक्रम के अन्त मे आभार प्रर्दान जिला भाजपाध्यक्ष ओम शर्मा ने व्यक्त किया । भाजपा द्वारा धिक्कार रैली एवं कलेक्टारेट के घेराव हेतु आयोजित कार्यक्रम में ओपी राय, थावरसिंह, प्रफुल्ल गादिया, अजय सोनी, मुकेश मेहता, मुके अजनार, पुरूशोत्तम प्रजापत, फकीरचंद राठौर, कीर्ती भावसार, हरू भूरिया, अंकुर पाठक, भुपे सिंगोड, इरशाद कुरैशि, कीर्ती चाणोदिया, नाना राठौर, लोका मुलेवा, गिरी सोंलंकी, अर्पीत कटकानी, महेन्द्र तिवारी, अजय पोरवाल, गोलु कुरैशी, विशवास सोनी, सरदार सिह डावर, निर्मला अजनार, हेमंत भट्ट, सायरा खॉन, अजय सोनी, जुवानसिंह गुडिया,,, मेजिया कटारा, मेगजी अमलीयार, रईसा कुरैशि, रमिला निनामा राजमल पडियार, जितेन्द्र पटेल, संगीता पलासिया, कृणपालसिह सहित बडी संख्या में भाजपा कार्यकर्ता एंव पदाधिकारी उपस्थित थे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

झाबुआ जिले मे 75.57 प्रतिशत मतदान हुआ। बुजुर्गो ,महिलाओ, युवाओ ने मतदान में बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया

अमित शर्मा (झाबुआ अभीतक)
झाबुआ-लोकसभा निर्वाचन 2019 हेतु जिले मे विधानसभा क्षेत्र-193 झाबुआ, विधानसभा क्षेत्र-194 थांदला एवं विधानसभा क्षेत्र-195 पेटलावद में सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक शातिपूर्ण तरीके से मतदान संपन्न हुआ। झाबुआ जिले मे 75.57 प्रतिशत मतदाताओ ने मतदान किया। जिसमे से 76.66 प्रतिशत पुरूष एवं 74.47 महिला मतदाताओ ने मतदान किया।

विधानसभा क्षेत्र-193 झाबुआ मे कुल मतदान केंद्र 356 पर 70.82 प्रतिशत मतदान हुआ। इसी प्रकार विधानसभा क्षेत्र-194 थांदला मे कुल मतदान केंद्र 304 पर 77.55 प्रतिशत मतदान हुआ। तथा विधानसभा क्षेत्र-195 पेटलावद में कुल 321 मतदान केंद्र पर 78.34 प्रतिशत मतदान हुआ।  
विधानसभा क्षेत्र झाबुआ मे 72.32 प्रतिशत पुरूष एवं 69.3 प्रतिशत महिला मतदाताओ ने मतदान किया। थांदला मे 78.15 प्रतिशत पुरूष एवं 76.95 प्रतिषत महिला मतदाताओ ने मतदान किया। पेटलावद मे 79.51 प्रतिशत पुरूष एवं 77.17 प्रतिशत महिला मतदाताओ ने मतदान किया।

झाबुआ जिले में मतदान की झलकियां-----
1 व्हीलचेयर पर ले जाकर करवाया मतदान ।
2 इंदौर मे रहने वाले सीए आनंद ने रायपुरिया मे अपने बूथ पर सबसे पहले वोट डाला।
3 पैराल…

गणना प्रेक्षक श्री प्रकाश बिंदु ने मतगणना स्थल का निरीक्षण कर व्यवस्थाओ का जायजा लिया

अमित शर्मा (झाबुआ अभीतक)
झाबुआ-लोकसभा सामान्य निर्वाचन 2019 की मतगणना संबंधी कार्य सुव्यवस्थित, निर्विध्न रूप से सम्पन्न हो इसलिए आज भारत निर्वाचन आयोग द्वारा नियुक्त मतगणना प्रेक्षक श्री प्रकाश बिंदु ने मतगणना स्थल शासकीय पोलेटेक्निक कॉलेज झाबुआ का निरीक्षण कर व्यवस्थाओ का जायजा लिया एवं मतगणना स्थल पर निर्वाचन आयोग के निर्देषानुसार व्यवस्थाएं सुनिष्चित करने के लिये आवश्यक दिशा निर्देश दिए। 
निरीक्षण के दौरान उनके साथ कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री प्रबल सिपाहा, पुलिस अधीक्षक श्री विनीत जैन, सीईओ जिला पंचायत श्रीमती जमुना भिडे, निर्वाचन के मतगणना कार्य के लिये नियुक्त षासकीय सेवक उपस्थित थे।

कलेक्टर,एसपी की पहल रंग लायी,, सागिया के सिंगार फलिया के मतदाताओं ने निर्भीक होकर मतदान

अमित शर्मा (झाबुआ अभीतक)
झाबुआ -झाबुआ जिले के विधानसभा क्षेत्र 195 पेटलावद के सागिया मतदान केंद्र क्र. 32 पर  पुलिस और  अर्धसैनिक  बल की   मदद से  सिंगार फलिया के  मतदाताओं द्वारा  निर्भीक और  निष्पक्ष होकर मतदान किया । विदित हो कि  सिंगार फलिया के  मतदाताओं द्वारा  भय के कारण  विगत विधानसभा चुनाव में  एक भी मत  नहीं डाला गया था इसे देखते हुए पुलिस अधीक्षक  झाबुआ  श्री विनीत जैन एव कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा  के  द्वारा सिंगार फलिया का दौरा  किया गया  और  उन्हें  निर्भीक होकर मतदान के लिए  प्रेरित किया गया। जिसका  परिणाम स्वरूप आज  सिंगार फलिया  के  57  मतदाताओं  में से  51  द्वारा  मतदान कर  लोकतंत्र के इस महायज्ञ मे  अपना योगदान  मतदान के द्वारा  दिया ।


सिंगार फलिया के  मतदाताओं द्वारा  प्रशासन और पुलिस का  आभार माना गया  की  उन्होंने  उन्हें  मतदान के लिए प्रेरित किया और  इसके लिए पूर्ण सहयोग किया इस पूरे अभियान में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक  विजय डावर, एसडीओपी  झाबुआ  इडला मौर्य, थाना प्रभारी  कोतवाली  नरेंद्र सिंह रघुवंशी, चौकी प्रभारी पारा  रमेश कोली,  के  द्वारा  सक्रिय  रूप से  मत…